Categories

June 25, 2024

skdarpannews

ASHALI SURAT DIKHATA

जी-20’ के तहत यूथ कॉन्क्लेव एवं सांस्कृतिक कार्यक्रमों का एमिटी विश्वविद्यालय हुवा आयोजन

जी-20’ के तहत यूथ कॉन्क्लेव एवं सांस्कृतिक कार्यक्रमों का एमिटी विश्वविद्यालय हुवा आयोजन

‘जी-20’ के तहत यूथ कॉन्क्लेव एवं सांस्कृतिक कार्यक्रमों का एमिटी विश्वविद्यालय हुवा आयोजन

लखनऊ मे आज एमिटी विश्वविद्यालय, लखनऊ में ‘सतत विकास के लिए विज्ञान’ विषय पर ‘जी-20’ यूथ कॉन्क्लेव एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम  का आयोजन किया गया। इससे पहले तीन ‘जी-20’ यूथ कॉन्क्लेव जून एवं जुलाई माह में आकाशवाणी सभागार, उत्तर प्रदेश संगीत नाटक अकादमी और डीपीएस, एल्डिको में भव्य रूप से आयोजित किए जा चुके हैं। कार्यक्रम का आरंभ जल योद्धा पद्मश्री उमा शंकर पांडेय, कार्यक्रम प्रमुख मीनू खरे, एमिटी विश्वविद्यालय के डीन डॉ0 राजेश तिवारी, एआईआईटी के निदेशक बिग्रेडियर उमेश चोपड़ा, आकाशवाणी से रश्मि चौधरी, और डॉ0 सुशील कुमार राय द्वारा दीप प्रज्ज्वलित कर किया गया।

लखनऊ की कार्यक्रम प्रमुख मीनू खरे ने कहा कि माननीय प्रधानमंत्री के संकल्पों एवं मार्गदर्शन के कारण हमारा देश आज चहुमुखी उन्नति एवं विकास के रास्ते पर अग्रसर है। और यूथ कॉन्क्लेव का उद्देश्य युवाओं को  भारतीय संस्कृति एवं विरासत से परिचित कराना है। एमिटी विश्वविद्यालय के डीन (एकेडेमिक्स) डॉ राजेश तिवारी ने कहा कि देश की यूथ कॉन्क्लेव के माध्यम से युवाओं को जाग्रत एवं प्रेरित करना एक सराहनीय प्रयास है। उन्होंने युवाओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि भविष्य में हमारे देश की सभ्यता, संस्कृति और विरासत को आगे बढ़ाने की ज़िम्मेदारी अब युवाओं की ही है।

कॉन्क्लेव के मुख्य वक्ता पद्मश्री उमा शंकर पांडेय ने अपने वक्तव्य में युवाओं को पानी की महत्ता बताते हुए उन्हें प्रकृति के संरक्षण के लिए कार्य करने के लिए प्रेरित किया साथ ही बताया कि उन्होंने किस प्रकार अपने पुरखों के कार्यों और अनुभवों के सहारे मेड़बंदी का तरीका अपनाकर गाँवों में पानी की समस्याओं का निवारण किया। लोकप्रिय आल्हा गायिका शीलू सिंह राजपूत व साथी कलाकारों ने आल्हा गायन से खूब तालियाँ बटोरी और दर्शकों का मन मोह लिया। इसके साथ ही एमिटी विश्वविद्यालय के छात्र-छात्राओं द्वारा लावणी एवं भांगड़ा की सुन्दर प्रस्तुति की गई।

एमिटी विश्वविद्यालय द्वारा चयनित विद्यार्थियों द्वारा ‘सतत विकास के लिए विज्ञान’ विषय पर भाषण प्रतियोगिता में भी उत्साहपूर्वक प्रतिभाग किया गया। निर्णायक मण्डल के रूप में डॉ नगेन्द्र सिंह रघुवंशी, डॉ मंजू अग्रवाल एवं डॉ संजू तिवारी उपस्थित रहे। इस प्रतियोगिता में अनुभव गुप्ता ने प्रथम, अंचित मारवा ने द्वितीय एवं रितिका ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। प्रज्ञा शुक्ला, शिवि सिंह, एवं सोनल गुप्ता को सांत्वना पुरस्कार दिए गए। छात्र-छात्राओं द्वारा ‘जी-20’ क्विज़ प्रतियोगिता में भी प्रतिभाग किया गया। क्विज के विजेता पल्लवी सिंह, आस्था सिंह, राजश्री त्रिपाठी, अमन सिंह, ऋतू सिंह, मनीषा श्रीवास्तव, हिमांशु, ऋतुराज, अतिश रे एवं अपूर्वा रहे। कार्यक्रम के अंत में आकाशवाणी लखनऊ एवं एमिटी विश्वविद्यालय की तरफ से सभी प्रतिभागियों एवं कलाकारों को पुरस्कार एवं प्रमाण-पत्र देकर सम्मानित व प्रोत्साहित किया गया। ब्रिगेडियर श्री उमेश चोपड़ा द्वारा धन्यवाद ज्ञापन किया गया। कार्यक्रम का संचालन एमिटी विश्वविधायल की डॉ प्रज्ञान डंगवाल, आर जे शोभित गुप्ता और आर जे तरूश्री द्वारा किया गया।