Categories

July 20, 2024

skdarpannews

ASHALI SURAT DIKHATA

5 बीघे सरकारी जमीन बेचने के मामले मे  किसान यूनियन ने  जिलाधिकारी को दिया ज्ञापन,कारवाही की मांग

5 बीघे सरकारी जमीन बेचने के मामले मे  किसान यूनियन ने  जिलाधिकारी को दिया ज्ञापन,कारवाही की मांग

5 बीघे सरकारी जमीन बेचने के मामले मे  किसान यूनियन ने  जिलाधिकारी को दिया ज्ञापन,कारवाही की मांग

बाराबंकी -जनपद के फतेहपुर तहसील के अंतर्गत सरकारी अभिलेखों में कूट रचना कर 5 बीघे सरकारी जमीन बेचने का मामला सामने आया है ग्राम फिरोजपुर के झिझरा चौराहे पर सरकारी रिकार्डो में बंजर व नवीन पढ़ती के रूप में दर्ज था। लेकिन कुछ सालों पहले दौलतपुर के पूर्व प्रधान अमित सिंह व उनके साथियों ने सरकारी अभिलेखों में हेरफेर व कूट रचना कर जमीन अपने नाम पर दर्ज करवा ली सरकारी अभिलेखों में एक फ़र्ज़ी वाद का हवाला देकर कागजों में अपना नाम चढ़ावा कर जमीन का बैनामा भी करवा लिया क्या जबकि जिस वाद का हवाला दिया गया
था वाह वाद चकबंदी के रिकॉर्ड में कभी चला ही नहीं था। कागजों में ओवरराइटन के अंग्रेजी के अंकों में वाद संख्या दर्ज करवाई गई थी जबकि 1969 में ओवर राइटिंग के तहत फर्जी वाद संख्या को अंग्रेजी में दर्ज करवा लिया था और बाद में उसी आधार पर रिकार्डो में अमित सिंह के साथी के नाम दर्ज हो गया और अपने साथी से अमित सिंह ने अपने नाम पर बेनामा करवा लिया।
वह शिकायत के बाद जांच अधिकारी ने राजस्व रिकॉर्ड में यह पाया कि ओवर राइटिंग व फ़र्ज़ी वाद संख्या के आधार पर कूट रचना हुई है। इस आधार पर उप जिलाधिकारी सचिन वर्मा
ने समस्त आदेश निरस्त करते हुए जमीन को पुनः  बंजर में दर्ज करवा दी है। जमीन की कीमत करोड़ों में बताई जा रही है। भारतीय किसान यूनियन (लोक शक्ति) के कार्यकर्ताओं ने इस संबंध में डीएम बाराबंकी को ज्ञापन देकर कार्रवाई की मांग की है किसान यूनियन का कहना है की जालसाजी के गिरोह के सरगना अमित सिंह व उनके साथियों पर सरकारी अभिलेखों में कूट रचना कर जमीन कब्जाने के मामले में एफ.आई.आर दर्ज करवा कर जेल भेजा जाए इसके अलावा अमित सिंह द्वारा ऐसे कितने अपराध किए गए हैं उनकी जांच हो।
https://youtu.be/JDBzW8AlCKM