Categories

April 21, 2024

skdarpannews

ASHALI SURAT DIKHATA

जल निगम के कर्मचारियों और पेंशनरों ने अपनी 10 सूत्री मांगों को लेकर किया सत्याग्रह

जल निगम के कर्मचारियों और पेंशनरों ने अपनी 10 सूत्री मांगों को लेकर किया सत्याग्रह

जल निगम के कर्मचारियों और पेंशनरों ने अपनी 10 सूत्री मांगों को लेकर किया सत्याग्रह

लखनऊ मे आज उत्तर प्रदेश जल निगम नगरीय  ग्रामीण) कर्मचारी यूनियन के तत्वाधान में आज जल निगम मुख्यालय पर अपनी 10 सूत्री मांगों को लेकर सत्याग्रह व एक दिवशीय धरना दिया | प्रदर्शन मे प्रदेश से जुटे सैकड़ों कर्मचारियों  पेंशनरों एवं आश्रित नियुक्ति विहीन मृतक कर्मचारियों की विधवाओं व परिजनों ने कहा यूनियन द्वारा विगत 3 वर्षों से अवैध रूप से रोकी गई आश्रित नियुक्ति निदेशक मण्डल द्वारा निर्धारित 5 वर्ष की सेवा पूर्ण करने पर 1991 से 1995 तक विनियमित किये गये 4141 फीकड कर्मचारियों को पेंशन एवं पेंशनरी लाभ दिये जाने  वॉडीशापिंग के आधार पर नगर निकायों में प्रतिनियुक्ति पर भेजे गये कर्मचारियों को बाध्य प्रतीक्षा अवधि का बकाया वेतन भुगतान करने षष्ठम वेतनमान का एरियर 230 प्रतिश मंहगई भत्ता  महंगाई राहत देने  माह अक्टूबर 2023 से 4 माह का बकाया वेतन पेंशन का भुगतान करवाने की माँग सहित 10 सूत्री समस्याओं के शीघ्र पूरी होने की गुहार लगाई इस प्रदर्शन मे सभी सगठनो ने  समर्थन करते हुए सत्याग्रह आन्दोलन में भाग लिया | वही प्रदर्शन करियो ने यह भी कहा यदि उनकी मागय जल्द पूरी नहीं होती तो वही लोग एक बड़ा आंदोलन करने के लिया बाध्य होंगे धरने की अध्यक्षता करते हुए का० महेन्द्र प्रसाद तिवारी ने कहा कि सबका साथ  सबका विकास का नाम देने वाली भाजपा सरकार में जल निगम के कर्मचारियों और पेंशनर वेतन  पेंशन के अभाव में भुखमरी से जूझ रहे है यूनियन के अध्यक्ष का  राम सनेही यादव ने जल निगम प्रशासक द्वारा विभाग की आर्थिक बदहाली के नाम पर विगत तीन वर्षों से अवैधानिक रूप से रोकी गई आश्रित नियुक्ति को संविधान  नियमों के विरूद्ध बताते हुए तत्काल बहाल करने की मांग की उत्तर प्रदेश जल निगम नगरीय ग्रामीण लाल झंडा मजदूर के अध्यक्ष का गिरीश यादव ने 4141 कर्मचारियों को माननीय उच्च न्यायालय के आदेश के बावजूद पेंशन पेंशनरी लाम से वंचित रखने को तानाशाही बताते हुए जल निगम प्रशासक की कड़ी भर्त्सना की उत्तर प्रदेश जल निगम |