skdarpannews

ASHALI SURAT DIKHATA

हापुड़ में वकीलों पर लाठीचार्ज पर आज भी किया प्रदर्शन,अधिवक्ता सुरक्षा कानून की मांग

हापुड़ में वकीलों पर लाठीचार्ज पर आज भी किया प्रदर्शन,अधिवक्ता सुरक्षा कानून की मांग

हापुड़ में वकीलों पर लाठीचार्ज पर आज भी किया प्रदर्शन,अधिवक्ता सुरक्षा कानून की मांग

लखनऊ -उत्तर प्रदेश के हापुड़ जिले में वकीलों पर लाठीचार्ज के विरोध में आज भी अवध बार एसोसिएशन व अन्य  बार के अधिवक्ताओं के साथ लखनऊ के हाई कोर्ट के बहार शांति पूर्वक प्रदर्शन किया गया | वहीं पूरे मामले पर उत्तर प्रदेश पर बारकाउंसलिंग के मेंबर वा लखनऊ विकास प्राधिकरण के अधिवक्ता अजय कुमार शुक्ला ने कहा कि हापुड़ में 29 अगस्त को अधिवक्ताओं के ऊपर पुलिस द्वारा बर्बरता पूर्वक लाठी चार्ज की गई थी हम लोग वहां शांतिपूर्ण ढंग से अपनी मांगे मनवाने वहां गए थे जिस तरह से वहां के प्रशासन ने हिटलर शाही व्यवस्था को अंजाम दिया गया हम लोगों के ऊपर लाठी चार्ज की गई लेकिन उत्तर प्रदेश सरकार ने उस मामले में आज तक कोई भी उचित कार्रवाई नहीं की है।

जिसके चलते भारत के इतिहास में यह एक काला अध्याय लिखा जाएगा कि राज्य सरकार ने इस मामले को गंभीरता से ना लेते हुए हम लोगों को कहीं ना कहीं दरकिनार किया गया जबकि प्रदेश की सरकार बनाने में योगी मोदी सरकार को आगे लाने में हम आम अधिवक्ताओं का बहुत बड़ा योगदान रहा है हम लोगों ने सरकार बनाने के लिए गली-गली जाकर लोगों से वोट मांगे। और हामी लोगो का सरकार दुर्गत कर रही है ।और हम लोगो ने आज हाई कोर्ट पर शांतिपूर्ण ढंग से अपनी मांगों को लेकर धरना देने को कहा था लेकिन सरकार ने यहां छावनी की तरह पुलिस लगा दी है। और वही कहा की हम अधिवक्ताओं की तरफ से एडवोकेट प्रोटेक्शन एक्ट की लगातार मांग की जा रही है राजस्थान ने लागू भी कर दिया है|

लेकिन उत्तर प्रदेश में डबल इंजन सरकार होने के बावजूद भी अभी एडवोकेट प्रोटेक्शन के बारे में अभी तक सोचा ही नहीं। वही आरोप लगाते हुवे कहा कि हमारे यह ऐसे पांच बार काउंसलिंग के मेंबर हैं क्योंकि तमाम भाजपा पार्टी के विभिन्न पदों पर कार्यरत है। कहीं ना कहीं वह लोग हम लोग के मामले में गंभीर नहीं है वह कहीं ना कहीं सरकार से मिलकर हम लोग का उतना कर रहे हैं। और वही कहा कि पर में हुई घटना में दोषी पुलिसकर्मी व प्रशासन के लोगों को तत्काल प्रभाव से निलंबित करते हुए अनुसात्मक कार्रवाई सुनिश्चित की जाए और अंत में कहा कि यदि प्रशासन और सरकार हमारी मांगे नहीं मानते तो हम लोग इससे भी जोरदार प्रदर्शन करेंगे।