skdarpannews

ASHALI SURAT DIKHATA

दस दिवसीय सिल्क इंडिया प्रदर्शनी का हुवा शुभारम्भ कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक के मिलेगे परिधान

दस दिवसीय सिल्क इंडिया प्रदर्शनी का हुवा शुभारम्भ कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक के मिलेगे परिधान

दस दिवसीय सिल्क इंडिया प्रदर्शनी का हुवा शुभारम्भ कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक के मिलेगे परिधान

लखनऊ मे आज कैसरबाग के सफेद बारादरी में दस दिवसीय ‘सिल्क इंडिया प्रदर्शनी’ का आयोजन किया गया । जिसमें पूरे भारत के अलग-अलग कोनों से आये दुकानदारो ने अलग अलग तरह  की साड़ी उत्पादों के स्टॉल लगाए हैं। इसका शुभारम्भ मुख्य अतिथि यूपी सरकार के भाषा विभाग के फखरुद्दीन कमेटी के अध्यक्ष तूरज जैदी व अल्पसंख्यक आयोग के सदस्य परमिंदर सिंह, एमटीवी मॉडल मोहनीश सवितर,आयोजक मानस आचार्य और जावेद मकसूद ने दीप जला कर किया | प्रदर्शनी के आयोजक मानस आचार्य ने बताया कि लखनऊ मे एक छत के नीचे महिलाओ के लिया हर वायरटी की साडिया मिलेगी और कह “इस सिल्क प्रदर्शनी में अलग-अलग राज्यों से आये बुनकरों के पास विभिन्न प्रकार के मटेरियल से बनी साड़ी, सूट, डिजायनर वेस्टर्न और ब्राइडल वियर सिल्क कॉटन साड़ी, कुर्ती, टॉप, खादी शर्ट, फैशन जूलरी बेड सीट, भदोही की कालीन, ज्वैलरी और ड्राई फ्रूट जैसे उत्पाद मिलेगे |

वही प्रदर्शनी का अवलोकन करते हुए एम टीवी अभिनेता मोहनीश सवितर ने कहा कि हमारी सरकार बुनकरों के काम को बढ़ावा देने के लिए कर रही है, ताकि उनका कारोबार आगे बढ़ता रहे। इस जगह पर विभिन्न राज्यों के उत्पाद बुनकरों द्वारा तैयार किये गए हैं, जो सीधे ग्राहकों को मिला रहा है। यह सराहनीय पहल है और उन्होंने कहा उत्तर प्रदेश के लखनऊ शहर में एक ही छत के नीचे सब कुछ उपलब्ध है। आरजे इवेंट्स एंड प्रोडक्शंस के ब्रांड एंबेसडर मोहनीश के अनुसार, ”प्रदर्शनी में उत्तर प्रदेश की मलबरी सिल्क, जामदानी व जमावार सिल्क साड़ी उपलब्ध है। बिहार की जैविक टसर सिल्क साड़ी-सूट व दुपट्टा ड्रेस मटेरियल, तमिलनाडु की कांजीवरम सिल्क साड़ी व डिजायनर साड़ी व सूट, आंध्र प्रदेश की उप्पड़ा, गढ़वाल, मंगलगिरी व पोच्चम पल्ली साड़ी, पश्चिम बंगाल की बालूचरी, ढाका मशलीन, बुटीक व कांथा साड़ी छत्तीसगढ़ अनन्य कच्ची व कोसा सिल्क साड़ी व ड्रेस मटेरियल उपलब्ध है।” उन्होंने बताया कि प्रदर्शनी में कर्नाटक की बनी गोल्ड जरी वर्क से तैयार काँजीवरम सिल्क साड़ी को देखने के लिए ज्यादा लोग उत्साहित रहे।